Watch all 36 hours Lecture of Rajiv Dixit Online Free of Cost  Click for Watch

Amar Shaheed Krantikari Rajiv Dixit's Biography - Published at Protect Your Freedom Publication

>> Thursday, February 10, 2011

अमर शहीद  डाक्टर राजीव दीक्षित जी की जीवनी

( आजादी के बाद भारत से ८००० से ज्यादा विदेशी कंपनियों को भारत से भगाने के लिए साहस करने वाला भारत का पहला तथा महान क्रन्तिकारी शहीद )




हमें आप सब को यह बताते हुए खुशी हो रही है कि राजीव दीक्षित जी की सम्पूर्ण जीवनी Protect your freedom के प्रकाशन से प्रकाशित हो चुकी है | इस के लेखक आजाद भाई है, तथा इस जीवनी को  डाक्टर सवतंत्र  जी ने संपादन किया है |


इस जीवनी को १० भागों में लिखा गया है | यह जीवनी बहुत ही शोध करने के बाद लिखी गयी है,  डाक्टर सवतंत्र  जी के सहयोग से हम ने इस में  लगभग सभी भाषा की गलती भी दूर की है फिर भी आप के बहुमूल्य सुझाओं का स्वागत है |  अभी यह जीवनी हिंदी में प्रकाशित हुई है | पर हमारा उद्देश्य इस भारत की सभी भाषों में छपवाने का है | Dhananjay Shukla Ji इस का उनुवाद गुजराती में कर रहे है इसके लिए उनका हार्दिक धन्यवाद ! यदि आपने अपने या बच्चों की  study के लिए लेनी है तो हम आप को इसको भजने के लिए तेयार है किर्प्या हमें निचे देये ऑनलाइन आर्डर फॉर्म पर सूचित करे   | यह आप व् आपके परिवार के लिए प्रेरणा भरा उपहार होगा | जिससे आप के बच्चों में अच्छे संस्कार आयेगे |


जय हिंद





| More

5 comments:

Anonymous,  February 10, 2011 at 11:26 PM  

Dr. RAjiv Dixit was really a strong pillar for New Freedom fight for India.I got a chance to spend a few days almost a week with him when he came to my house in Nov 2008.A great pleasure to meet a man of vast knowledge and wisdom lover of his motherland.We have heard stories of freedom fighters and he was the Bhagat Singh of our country.It's is really hard to believe that he is not alive.The very day he died he was in my house celebrating my younger daughter 1st birthday and he asked me to plant a tree that I do planted.When ever I see that tree he make me remember Rajiv ji.It is awful we lost the jewel of our country.But we will fight for the cause he started and will achieve it and he will always alive in the dreamland he showed us as a new India. So I request all Indians who truly love their Motherland come forward to end the corruption and injustice of the Indian system.

Anonymous,  February 22, 2011 at 5:29 PM  

Main bahut bahut dhanyawad karna chahungi Azad Bhai ka... Rajiv ji ki jeevani bhejne ke liye !shat shat dhnayawad ! 14 farvari ko order ke 5-6 dino ke bhitar hi mujhe is mahan deshbhakt ki jeevani mili. Dhanyawad !! JAI HIND !!

DreamCoder July 26, 2011 at 12:04 PM  

कृपया मुझे ईमेल के द्वारा इस पुस्तक तथा आपके द्वारा प्रकाशित सभी पुस्तकों के मूल्य की जानकारी देने की कृपा करें और यदि आप अपने द्वारा प्रकाशित सभी पुस्तकों का मूल्य नाम सहित इस वेबसाइट पर बता दें तो यह बहुत ही अच्छा होगा.

जय हिंद

नीरज सेमवाल

mr raigar December 14, 2011 at 7:00 AM  

कृपया मुझे ईमेल के द्वारा इस पुस्तक तथा आपके द्वारा प्रकाशित सभी पुस्तकों के मूल्य की जानकारी देने की कृपा करें और यदि आप अपने द्वारा प्रकाशित सभी पुस्तकों का मूल्य नाम सहित इस वेबसाइट पर बता दें तो यह बहुत ही अच्छा होगा.

niraj kumar October 26, 2013 at 1:04 AM  

i wan to join swadeshi se swawlambi bharat. i have seen all the speech of rajiv gandhi. now i want to do something for him and also for our country. so what i have to do?

Post a Comment